Commodities Weekly Research Report 07-08-17 To 11-08-17

4
531

 

Neal Bhai — Commodities Weekly Research ReportCommodities Weekly Research Report 07-08-17 To 11-08-17

Trend Sideways ⇒ Sell Gold MCX Between 28610 – 28710, Stop Loss – 29120, Target – 28420 ↔ 29309

Trend Sideways ⇒ Sell Silver MCX Between 37600 – 37650, Stop Loss – 37850, Target – 37200 ↔ 36900

Trend Sideways ⇒ Sell Copper MCX Between 409 – 412 Stop Loss – 418, Target – 395 ↔ 388

Trend Up ⇒ BUY Crude MCX Oil Between 3070 – 3100, Stop Loss – 2955, Target – 3180 ↔ 3220

Trend Sideways ⇒ BUY Natural Gas MCX Between 172 – 170, Stop Loss – 168, Target – 185 ↔ 191

>>> Trade With Stop Loss <<<

“The Real Commodity Guru”

Mobile ⊕ 9582247600

WhatsApp No. 9899900589

Commodities Weekly Research Report 07-08-17 To 11-08-17 | Neal Bhai Reports | Gold Silver Reports

  • कच्चे तेल की तेजी हवा हो गई है। इसमें करीब 1 फीसदी की गिरावट आई है। ग्लोबल मार्केट में ये 9 हफ्ते के ऊपरी स्तर से फिसल गया है। नैक्स क्रूड 50 डॉलर के नीचे आ गया है। ब्रेंट में बावन डॉलर के नीचे कारोबार हो रहा है।

  • वहीं सोना 2 हफ्ते के निचले स्तर पर आ गया है और इसमें करीब 1.4 फीसदी नीचे कारोबार हो रहा है। ग्लोबल मार्केट में गिरावट का घरेलू बाजार पर असर पड़ा है। इस बीच बेस मेटल में एल्युमिनियम को छोड़कर सभी मेटल में गिरावट आई है। कॉपर और निकेल का दाम करीब 0.5 फीसदी नीचे आ गया है। हालांकि रुपये में कमजोरी से घरेलू बाजार में क्रूड को सपोर्ट मिला है। ग्लोबल मार्केट में दबाव के बावजूद घरेलू बाजार में बढ़त पर कारोबार हो रहा है।

  • घरेलू बाजार में कच्चा तेल 0.06 फीसदी की तेजी के साथ 3151 रुपये के स्र पर नजर आ रहा है जबकि कॉपर -0.04 फीसदी की गिरावट के साथ 406.55 रुपये पर दिखाई दे रहा है।

  • दाल की कीमतों में जोरदार तेजी आई है। वायदा में चने का दाम करीब दो परसेंट उछल गया है। वहीं महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में अरहर का भाव करीब तीन सौ रुपए उछल चुकी है। दरअसल सरकार ने अरहर के इंपोर्ट पर रोक लगा दी है। ऐसे में दाल की कीमतों को सपोर्ट मिला है। दरअसल विदेशी बाजार में अरहर घरेलू बाजार के मुकाबले सस्ती बिक रही थी, ऐसे में दस परसेंट इंपोर्ट ड्यूटी के बावजूद विदेशी दाल भारत में डंप हो रही थी। जबकि घरेलू स्तर पर इस साल दाल की बंपर पैदावार हुई है।